अगर आपने यह 10 बुरी आदते नहीं छोड़ी तो आपका ब्रेन हो सकता है फेल

शरीर का हर एक अंग बहुत महत्वपूर्ण होता है, परन्तु दिल और ब्रेन ऐसे दो पार्ट है जो सारे शरीर को नियंत्रण करते है। इस लिए आवश्यक है कि क्या आप अपने ब्रेन की भी उसी तरह देखभाल करते हैं जिस तरह अपने तन और लुक पे करते हो?

बीमारी किसे के वस् में नहीं होती परन्तु आप कुछ बुरी आदते छोड़ दो आपका मस्तिष्क तंदरुस्त और सवस्थ रह सकता है। हम आपको बता रहे है आपकी बुरी आदतों के बारे में:

 

  • ब्रेकफास्ट नहीं करना (सुबह का नाश्ता): अगर आप सुबह का भोजन नहीं कर रहे तो इसका मतलब है कि आप बीमारियों को दावत दे रहे हो। सुबह का नाश्ता आपको दिन भर बॉडी को उचित शक्ति और एनर्जी देता है जिससे आपका मस्तिष्क और दिल स्वस्थ रहते है।
  • धूम्रपान (सिगरेट पीना): हम सभी जानते है कि धूम्रपान करने से फेफड़े का कैंसर हो जाता है पर आप यह नहीं जानते के धूम्रपान से आपके ब्रेन को भी नुकसान होता है। सिगरेट पीने से आपका मस्तिष्क सिकुड़ने लगता है जिससे अल्जाइमर रोग हो सकता है।
  • जरुरत से ज्यादा खाना (ओवर-डाइटिंग): जरूरत से ज्यादा खाना दिमाग के लिए बहुत हानिकारक है। हर एक व्यक्ति को अपने बॉडी के साइज, वजन और कद के हिसाब से कैलोरीज लेनी चाहिए। ज्यादा कैलोरीज़ लेने से आपके वजन बढ़ने के साथ साथ ब्रेन भी कमज़ोर होने लगता है, जिसके साथ आपके सोचने समझने कि शक्ति कम हो जाती है।
  • अधिक चीनी का सेवन: आपको दिन भर चीनी बहुत कम खानी चाहिए। चीनी का अधिक इस्तेमाल करने से वेट तो ज्यादा होता ही है साथ में आपकी स्वस्थ को भी नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। अधिक मात्रा में चीनी लेने से प्रोटीन और पोषक तत्वों का संतुलन बिगड़ जाता है, जो कि कुपोषण और मस्तिष्क के विकास के मुद्दों का कारण बनता है।
  • पर्याप्त नींद न लेना: दिन भर कि थकावट को दूर करने के लिए नींद लेना आवश्यक होता है। पर्याप्त नींद न लेना और जरूरत से अधिक नींद लेना, दोनों स्वस्थ के लिए हानिकारक है। हमे कम से कम ८-१० घंटे रात में नींद लेनी चाहिए। रात को देर रात को सोना और नींद आने के बावजूद नींद टालने पर हमारे ब्रेन के सेल्स कमजोर और मर जाते है। पर्याप्त नींद न लेने से तनाव, थकान, याद्दाश्‍त पर असर पड़ता है।
  • टीवी देखते समय कुछ खाना: अपने आप को रिफ्रेश करने के लिए आप दफ्तर आने के बाद टीवी देखते हो। बहुत से लोगो को टीवी देखते समय खाने कि आदत होती है। प्रोग्राम और क्रिकेट मैच देखते समय आप जयादातर जंक फूड ही खाते हो, और आपका ध्यान टीवी में होने के कारण आपको ख्याल में नहीं रहता कि आपने कितना खा लिया है। उस दौरान आप खाने को ठीक से चबाते भी नहीं हैं। अक्सर देखने में आया है ऐसा करने से आप मोटापे का शिकार हो जाते हो जिससे आपके ब्रेन को भी नुकसान होता है।
  • बीमारी के समय दिमाग को आराम न देना: जब आप बीमार होते हो तो आपको आराम अच्छे से करना चाहिए। इस लिए आवश्यक है कि आप मानसिक एवं शारीरिक रूप से आराम करें। परन्तु जिस समाज में हम रहते है, वहाँ यह मुमकिन नहीं लगता। हर वक़त हम अपने काम एव अगली योजनाओं के बारे में सोचते रहते है जिससे हमारे ब्रेन को आराम मिलने के बजाय नुकसान होता है।
  • पिशाब को रोकना:  पिशाब को भूलकर भी ना रोके, यह आपके के लिए जानलेवा हो सकता है। जितना समय आप यूरिन को रोकोगे उतना ही आपके लिए नुकसानदेह है। रात को नींद में जयादातर लोग यूरिन को रोक कर रखते है। यूरिन को रोकने से आपका ब्लैडर बैक्टीरिया को अधिक विकसित कर कई प्रकार की स्वास्थय समस्याओं का कारण बनता है, क्योंकि पेशाब में यूरिया और अमिनो एसिड जैसे टॉक्सिक तत्व होते हैं। पिशाब को ब्लैंडर में इकट्ठा ना होने दो नहीं तो आपकी किडनी फेल हो सकती है।
  • मोबाइल फ़ोन साथ रख कर सोना: अगर आप अपने तकिये के नीचे मोबाइल फ़ोन रख कर सोते हो तो यह आपके ब्रेन के लिए सबसे बड़ा खतरा है। मोबाइल में इलेक्ट्रोमैग्नेटिक रेडिएशन उत्सर्जन होती है जो आपके दिल और ब्रेन के लिए घातक होती है। आपको ब्रेन ट्यूमर भी हो सकता है।

  •  कम बातें करना: आपको अपनी भावनाओं को दिल में नहीं रखना चाहिए। अपने दोस्तों और लोगो से बात करने से दिमाग के कार्य करने की शक्ति बनी रहती है । अपने विचारों को जब भी आपको लगता है, व्यक्त करें क्योंकि यह आपके दिमाग के स्वस्थ को प्रभावित कर सकता है।

1 Comment

Comments are closed.